DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, January 19, 2021

खंड शिक्षा अधिकारी नेतृत्व संवर्द्धन कार्यशाला के प्रथम चरण की हुई शुरुआत, 90 बीईओ 4 दिन लेंगे प्रशिक्षण BEO Leadership Workshop 2021

खंड शिक्षा अधिकारी नेतृत्व संवर्द्धन कार्यशाला के प्रथम चरण की हुई शुरुआत, 90 बीईओ 4 दिन लेंगे प्रशिक्षण 

BEO Leadership Workshop 2021


■ खंड शिक्षा अधिकारी नेतृत्व संवर्द्धन कार्यशाला
★ प्रथम दिवस 18 जनवरी 2021


मिशन प्रेरणा लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में बढ़ते हुए, 880 खंड शिक्षा अधिकारियों में से नामांकित 90 अधिकारियों के प्रथम चरण के 30 BEOs के  समूह की 4 दिवसीय आवासीय कार्यशाला का आयोजन आज जोश और उत्साह के साथ आरम्भ हुआ। कार्यशाला का शुभारंभ श्री आंनद कुमार पांडेय, वरिष्ठ विशेषज्ञ-गुणवत्ता के माध्यम से सभी प्रशिक्षणार्थियों के स्वागत संबोधन के साथ किया गया।

 प्रथम सत्र- BEO as a Leader for Prerak Block में नेतृत्वकर्ता की भूमिका, प्रकार व उनके विभिन्न गुणों पर प्रकाश डाला गया । साथ ही ब्लॉक स्तर पर 5 विभिन्न प्रकार के घटकों पर चर्चा की गई, जिसे स्वयं महानिदेशक महोदय द्वारा संबोधित किया गया । इस सत्र के दौरान  एक उत्तम नेतृत्वकर्ता बनने के लिए क्या मूलभूत कदम उठाये जायें , इस सबन्ध में उदाहरणों के माध्यम से साझा किया गया। साथ ही मिशन की ताक़त को समझाते हुए सभी को मिशन से जुड़ने के लिए धन्यवाद ज्ञापन किया गया।

द्वितीय सत्र- इस सत्र में लीडरशिप के विभिन्न पहलुओं / स्टाइल पर Leadership Expert "दया कोरी" जी द्वारा  मार्गदर्शन एवम अनुभव साझा किये गये । इस सत्र में एक नेतृत्वकर्ता को परिस्थितियों के अनुसार अपनी लीडरशिप से कैसे सभी के साथ काम करना चाहिए इस पर विचार रखे गये।

तृतीय सत्र- इस सत्र का संचालन  प्रथम संस्था की CEO रुक्मणी बैनर्जी जी के माध्यम से किया गया  एवं इस सत्र में विद्यार्थियों के सीखने के अधिगम को लीडरशिप के माध्यम से कैसे बढ़ाया जाए , इस पर विशद चर्चा की गई।

चतुर्थ सत्र- यह सत्र बहुत ही रोचक एवं मनोरंजक था। यह सत्र चाय पर चर्चा के रूप में था, इसमें क्विज़ गतिविधि से शुरुआत की गई । इसके तत्काल बाद  महानिदेशक महोदय के माध्यम से धरातल पर आ रही समस्याओं एवं उनके समाधान को लेकर विचार विमर्श (open session) हुआ। 

अंत में  सभी प्रतिभागियों से प्रथम दिवस के फीडबैक पूर्ण कराकर आगामी दिवस की कार्ययोजना के साथ  प्रथम दिवस का कर्यक्रम सम्पन्न हुआ। 




No comments:
Write comments