DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, May 7, 2022

महिला शिक्षकों की प्रोन्नति के लिए मांगी गई तय प्रारूप में गोपनीय आख्या

महिला शिक्षकों की प्रोन्नति के लिए मांगी गई तय प्रारूप में गोपनीय आख्या

अपर शिक्षा निदेशक ने मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशकों को भेजा पत्र


प्रयागराज । अधीनस्थ राजपत्रित (महिला शाखा) के रिक्त पदों पर पात्रता सूची में संभावित शिक्षिकाओं (प्रवक्ता/ एलटी) को जल्द ही प्रोन्नति मिलेगी। इसके लिए अपर शिक्षा निदेशक (राजकीय) डॉ. अंजना गोयल ने शुक्रवार को सभी मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशकों को पत्र जारी कर पात्रता सूची में संभावित शिक्षिकाओं का विवरण सहित गोपनीय आख्या एवं प्रमाणपत्र मांगे हैं।


हालांकि इससे पूर्व भी महिला शिक्षकों की प्रोन्नति के लिए उनका विवरण मांगा गया था, लेकिन कई जगह से मनमाने ढंग से अपने हिसाब से प्रारूप तैयार कर शिक्षिकाओं की गोपनीय आख्या निदेशालय को भेजकर खानापूरी कर ली गई। अपर शिक्षा निदेशक ने अपने पत्र में कहा है कि यह स्थिति शुचितापूर्ण एवं त्वरित निस्तारण में बाधा उत्पन्न करती है।


 उन्होंने मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशकों से कहा है कि निर्धारित प्रारूप में संबंधित शिक्षिकाओं को संपूर्ण विवरण अंकित कर गोपनीय आख्या/ प्रमाणपत्र एवं अन्य वांछित अभिलेख 13 मई तक पंजीकृत डाक के माध्यम से या वाहक के माध्यम से निदेशालय के नियुक्ति 2 अनुभाग को प्राप्त करा दें निर्धारित तिथि तक आख्या या अभिलेख न मिलने की स्थिति में शिक्षिका की प्रोन्नति बाधित होती है तो इसके लिए संबंधित मंडलीय या जनपदीय अधिकारी के साथ ही संबंधित संस्थाधिकारी एवं शिक्षिका की जिम्मेदारी होगी।



प्रयागराज : अधीनस्थ राजपत्रित (महिला शाखा) के रिक्त पदों पर पदोन्नति के लिए पात्रता सूची में संभावित शिक्षिकाओं की गोपनीय आख्या निर्धारित प्रारूप में न होने पर फिर से मांगी गई है। इसके लिए 13 मई अंतिम तिथि तय की गई है। अपर शिक्षा निदेशक (राजकीय) डा. अंजना गोयल ने प्रदेश के सभी मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशकों (जेडी) को पत्र लिखकर कहा है कि तय प्रपत्र के अनुरूप कई शिक्षिकाओं की गोपनीय आख्या उपलब्ध नहीं कराई गई है। अपर शिक्षा निदेशक ने कहा है कि गोपनीय आख्या प्रस्तुत करने के लिए पूर्व में प्रपत्र भेजा गया था। 


इसके बावजूद मनमाने ढंग से स्वयं प्रारूप निर्धारित कर गोपनीय आख्या निदेशालय को भेजना शासकीय कार्यों के शुचितापूर्ण निस्तारण में बाधा उत्पन्न करना है। पदोन्नति का लाभ प्रवक्ता एवं सहायक अध्यापक (एलटी) दोनों को मिलना है। निर्देश दिए हैं कि पात्रता सूची की संबंधित शिक्षिकाओं का संपूर्ण विवरण तय प्रारूप में अंकित कर गोपनीय आख्या/ प्रमाणपत्र एवं अन्य वांछित अभिलेख निर्धारित तिथि तक भेजना सुनिश्चित करें। पुन: संलग्न किया गया है।


 इसे पंजीकृत डाक के माध्यम से अथवा वाहक के माध्यम से निदेशालय के नियुक्ति-2 अनुभाग में प्राप्त कराना सुनिश्चित करें। तय तिथि तक गोपनीय आख्या व अन्य पत्रादि प्राप्त न होने पर यदि किसी शिक्षिका की पदोन्नति बाधित होती है तो उसके लिए संबंधित मंडलीय एवं जनपदीय अधिकारी के साथ ही संबंधित संस्थाधिकारी और शिक्षिका स्वयं जिम्मेदार माने जाएंगे।




डेढ़ साल से नहीं मिला छह माह का बकाया वेतन


प्रयागराज 69 हजार शिक्षक भर्ती के तहत चयनित अभ्यर्थियों को डेढ़ साल से छह माह का वेतन नहीं मिला है। चयनित अभ्यर्थियों को प्रयागराज में 16 अक्तूबर 2020 को नियुक्ति मिली थी, जबकि वेतन का भुगतान मई 2021 से शुरू हुआ। शिक्षकों ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन देकर शुरुआत छह माह के वेतन के एरियर भुगतान की मांग की है। 


प्रयागराज में 69 हजार शिक्षक भर्ती के तहत नियुक्त शिक्षकों का कहना है कि उन्हें शुरुआत छह माह 14 दिनों के वेतन का भुगतान नहीं हुआ है, जबकि अन्य जनपदों में इसका भुगतान प्रथम वेतन के साथ किया जा चुका है। वहीं, प्रयागराज इस मामले में पिछड़ा हुआ है और यहां यह प्रक्रिया 18 माह बाद भी शुरू नहीं हो सकी है। 69 हजार शिक्षक भर्ती के तहत नियुक्त शिक्षकों ने मांग की है कि बकाया वेतन के एरियर का भुगतान शीघ्र किया जाए। 


No comments:
Write comments