DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, September 17, 2020

यूपी : नई शिक्षा नीति के लिए 7 फोकस ग्रुप का गठन

नई शिक्षा नीति, 2020 : स्कूलों के विद्यार्थी भी करेंगे इंडस्ट्री इंटर्नशिप, अंतर-विषयी पढ़ाई पर होगा जोर

 यूपी : नई शिक्षा नीति के लिए 7 फोकस ग्रुप का गठन


नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने सात फोकस ग्रुप का गठन कर दिया है। ये समूह पाठ्यक्रम, शिक्षकों के प्रशिक्षण, स्कूल प्रबंधन, सबके लिए शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा और शिक्षा में निजी निवेश को प्रोत्साहित करने जैसे विषयों पर प्रस्ताव तैयार करेंगे। नीति के क्रियान्वयन के लिए बनी स्टीयरिंग कमेटी की पहली बैठक की अध्यक्षता करते हुए अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने निर्देश दिए कि ये वर्किंग ग्रुप यदि चाहें तो बाहरी विशेषज्ञों की मदद ले सकते हैं।बैठक में नीति के कई पहलुओं पर चर्चा हुई और अलग-अलग समूहों का गठन किया गया। इन समूहों में विभागीय अधिकारियों को भी शामिल किया गया है। सभी विषयों पर विस्तार के चर्चा हुई और तय किया गया कि ये फोकस ग्रुप एक हफ्ते में बैठक कर रूपरेखा तैयार करेंगे और स्टीयरिंग कमेटी की बैठक एक हफ्ते बाद फिर होगी। 


इन फोकस ग्रुप का हुआ गठन

1-पाठ्यक्रम व शिक्षाशास्त्र-सीबीएसई के पूर्व अध्यक्ष अशोक गांगुली, उर्वशी साहनी, बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह, जेडी भगवती सिंह, मशिप के सचिव दिव्यकांत शुक्ला व विशेष सचिव आर्यका अखौरी

 2-मूल्यांकन व आकलन, परीक्षा रिफार्म - पूर्व परीक्षा नियंत्रक पवनेश कुमार, दिव्यकांत शुक्ल, जेडी प्रदीप कुमार, विशेष सचिव जय शंकर दुबे 

3-शिक्षकों के क्षमता संवर्धन व भर्ती-पवनेश कुमार, राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान की निदेशक ललिता प्रदीप, चयन बोर्ड की सचिव र्कीति गौतम, सांत्वना तिवारी, जेडी अजय कु सिंह, डीडी विकास श्रीवास्तव, राजू राना, कुमार राघवेन्द्र सिंह

4-शिक्षा में टेक्नोलॉजी- एकेटीयू के कुलपति विनय पाठक, एचसीएल फाउण्डेशन के ऑपरेशन हेड योगेश कुमार, विवेक नौटियाल, सुधीर कुमार, आर्यका अखौरी

5-कौशल व कॅरिअर- एनआईओएस के पूर्व अध्यक्ष महेश चन्द्र पंत, एनएसडीसी के पूर्व सीईओ जयंत कृष्णा, कॅरिअर काउंसिलर अमृता दास, एडी मंजू शर्मा, हरवंश सिंह, बृजेश मिश्र, कमलेश तिवारी, उदयभानु त्रिपाठी

6-विद्यार्थी सपोर्ट सिस्टम- उर्वशी साहनी, ममता अग्रवाल, भगवत प्रसाद पटेल, एमपी सिंह, उदयभानु त्रिपाठी

7-स्कूल मैनेजमेंट सिस्टम व निजी निवेश- अशोक गांगुली, संध्या तिवारी, पूर्व सचिव बेशिप रूबी सिंह, ललिता प्रदीप, मनोज द्विवेदी, प्रेम चन्द्र यादव, जय शंकर दुबे


लखनऊ : माध्यमिक स्कूलों में पढ़ रहे विद्यार्थियों को भी अब इंडस्ट्री में इंटर्नशिप कराई जाएगी, ताकि वे स्वरोजगार के लिए प्रेरित हो सकें। हर दो से तीन महीने में 10 दिन बैगलेस होंगे। विद्यार्थी इस दौरान बिना बस्ते के स्कूल आएंगे और इंडस्ट्री में जाकर ट्रेनिंग लेंगे। वहीं वोकेशनल एजुकेशन को बढ़ावा दिया जाएगा। तनाव रहित, खेल-खेल में और खुद प्रयोग कर विद्यार्थी सीखें, इस पर जोर दिया जाएगा।


नई शिक्षा नीति, 2020 को लागू करने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला की अध्यक्षता में बनाई गई स्टियरिंग कमेटी की बुधवार को हुई बैठक में कई प्रस्तावों पर विचार किया गया और इन्हें लागू कराने के लिए रोडमैप तैयार करने पर सहमति बनी। माध्यमिक स्कूलों के विद्यार्थियों की करियर काउंसिलिंग भी की जाएगी। सरकारी व सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में ई-लर्निंग को और बढ़ावा देने पर जोर दिया जाएगा। शिक्षकों के प्रशिक्षण और स्कूल मैनेजमेंट सिस्टम को मजबूत किया जाएगा। माध्यमिक स्कूलों के विद्यार्थी अपने कोर्स के साथ अन्य मनपसंद कोर्स भी आसानी से चुन सकेंगे। अंतर-विषयी पढ़ाई को बढ़ावा दिया जाएगा।

No comments:
Write comments