DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, November 7, 2020

डीएलएड प्रशिक्षण-2019 के दूसरे सेमेस्टर का पर्चा भी आउट, गणित और सामाजिक विज्ञान का पर्चा प्रशिक्षुओं तक परीक्षा से पहले पहुंचा

डीएलएड प्रशिक्षण-2019 के दूसरे सेमेस्टर का पर्चा भी आउट,  गणित और सामाजिक विज्ञान का पर्चा प्रशिक्षुओं तक परीक्षा से पहले पहुंचा


डीएलएड (पूर्व में बीटीसी) की सेमेस्टर परीक्षा मजाक बनकर रह गई है। नकल माफिया परीक्षा से आधा घंटा पहले ही पेपर आउट करके व्हाट्सएप पर वायरल कर दे रहे हैं। शुक्रवार को बीटीसी बैच 2013, सेवारत (मृतक आश्रित ), एवं 2014, 2015, डीएलएड प्रशिक्षण 2017 एवं 2018 (अवशेष/अनुत्तीर्ण) और डीएलएड 2019 द्वितीय सेमेस्टरकी दोपहर 12 से एक बजे तक गणित और 2 से 4 बजे तक सामाजिक अध्ययन की परीक्षा थी।


गणित का पेपर 11:28 और सामाजिक अध्ययन का पर्चा के साथ उसका हल 1.28 बजे ही व्हाट्सएप पर वायरल हो गया। पेपर खत्म होने के बाद लीक हुए परचे से लोगों ने सवाल मिलाए तो पता लगा कि जो प्रश्नपत्र व्हाट्सएप पर वायरल था, उसमें और असली परचे में कोई फर्क नहीं। बताया जा रहा है कि प्रश्नपत्र और उत्तरकुंजी 500-500 रुपये में बिक रही थी। प्रशिक्षु परीक्षा केंद्र के बाहर पेपर हल करके अंदर जा रहे थे ।


 बहुविकल्पीय प्रश्नों का उत्तर अपने प्रवेश पत्र पर ही पेंसिल से लिख ले रहे थे। इस मामले की जांच परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने शुरू कर दी है। यह स्थिति जिले में राजकीय इंटर कॉलेज के अलावा अन्य केंद्रों पर भी है । सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने पेपर लीक से इनकार नहीं किया है । उनका कहना है कि प्रकरण की जांच कराई जा रही है।


इस घटना ने पूरी परीक्षा परप्रश्न खड़ा करदिया है। डीएलएड एवं बीटीसी के तकरीबन 4 लाख प्रशिक्षु पूरे प्रदेश के विभिन्न केंद्रों पर 30 अक्तूबर से 11 नवंबर तक परीक्षा दे रहे हैं। पेपर जब व्हाट्सएप पर वायरल हो रहा है तो क्या प्रयागराज, क्यालखनऊ या कहीं और पहुंचने में कितना समय लगेगा। जीआईसी से ही नकल करने के मामले में 4 नवंबर को एक अभ्यर्थी ज्योति और उसके भाई राहुल मौर्य को पकड़ा गया था।


प्रयागराज/मऊ/एटा/हाथरस। डीएलएड प्रशिक्षण 2019 के दूसरे सेमेस्टर का पर्चा परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे पहले आउट हो गया। गणित एवं सामाजिक विज्ञान के प्रश्नपत्र प्रशिक्षुओं के व्हाट्सएप पर परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे पहले ही पहुंच गए। जो प्रश्नपत्र प्रशिक्षुओं को मिला, वही परीक्षा कक्ष में मिलने के बाद पक्का हो गया कि पर्चा आउट है। इसे लेकर कुछ परीक्षार्थियों ने हंगामा करने की कोशिश की लेकिन उन्हें शांत करा दिया गया। 


मामले में सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने जांच करने की बात कही है। प्रयागगाज के अलावा मऊ, एटा और हाथरस में भी ऐसे मामले सामने आए हैं। दूसरे सेमेस्टर का प्रश्नपत्र परीक्षा से पहले पहुंच गया। डीएलएड दूसरे सेमेस्टर गणित की परीक्षा 12 से एक बजे के बीच थी, जिसका पर्चा परीक्षार्थियों के पास 11.30 बजे से पहले पहुंच गया। अमर उजाला के पास भी यह पर्चा परीक्षा शुरू होने के पहले आ गया था। एटा के महारानी लक्ष्मीबाई गर्ल्स इंटर कॉलेज, मऊ के सोनीधापा बालिका इंटर कॉलेज और हाथरस में डीआरबी इंटर कॉलेज में भी इसी तरह के मामले सामने आए हैं।


सॉल्व पेपर के साथ पकड़ी गई छात्रा

डीएलएड द्वितीय सेमेस्टर गणित विषय की परीक्षा के दौरान न्यू एंजिल्स स्कूल परीक्षा केंद्र पर एक छात्रा सॉल्व पेपर के साथ पकड़ी गई। कक्ष निरीक्षक के साथ छात्रा ने हाथापाई की और स्कूल परिसर में जमकर हंगामा किया। पर्यवेक्षक ने छात्रा की प्रथम उत्तर पुस्तिका को सॉल्व पेपर के साथ सील कर इसकी सूचना डायट प्राचार्य को भेज दी है।


शहर के कटरा रोड स्थित एंजिल्स इंटर कॉलेज को डीएलएड परीक्षा का केंद्र बनाया गया है। शुक्रवार को दूसरी पाली में द्वितीय सेमेस्टर गणित विषय की परीक्षा चल रही थी। परीक्षा शुरू होने के करीब आधे घंटे बाद कुंती देवी महिला शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान की एक छात्रा सॉल्व पेपर के साथ पकड़ी गई। कक्ष निरीक्षक ने देखा कि मुख्य परीक्षा के प्रवेश पत्र की पिछली तरफ छात्रा ने क्रमवार प्रश्नों के उत्तर लिखे थे। छात्रा साल्व पेपर के जरिए ही परीक्षा दे रही थी। कक्ष निरीक्षक ने उससे साल्व पेपर छीना तो वह हाथापाई पर उतर आई। पेन के जरिए उसने कक्ष निरीक्षक पर हमला बोल दिया। हंगामा व शोर पर आसपास के कक्ष निरीक्षक व स्कूल प्रशासन के लोग दौड़े और किसी तरह कक्ष निरीक्षक को छात्रा से अलग कराया जा सका।


उसने प्रश्नपत्र, उत्तर पुस्तिका और प्रवेश पत्र को फाड़ दिया। सॉल्व पेपर को वह मुंह में चबाने की कोशिश करने लगी। हालांकि पर्यवेक्षक व शिक्षकों ने किसी तरह उससे साल्व पेपर का बचा हुआ हिस्सा छीन लिया। छात्रा का आरोप था कि नकल करने के लिए उसने रुपए दिए हैं। पैसा लेने के बाद उसे नकल करने से क्यों रोका जा रहा है। परीक्षा केंद्र की पर्यवेक्षक नूर फातिमा व सरिता शुक्ला छात्रा से साल्व पेपर के बारे में पूछताछ करने लगी। पर उसने कोई जानकारी नहीं दी। बाद में छात्रा की मूल कापी छीनकर उसे दूसरी कापी लिखने को दी गई। परीक्षा केंद्र की प्रभारी डॉ. शाहिदा ने बताया कि छात्रा नकल करते हुए पकड़े जाने पर हंगामा कर रही थी। उसे दूसरी कापी देकर पहली कापी छीन ली गई है।


चकमा देने के लिए साथ लाई पुराना प्रवेश पत्र : छात्रा कक्ष निरीक्षक व डायट टीम को चकमा देने के लिए डीएलएड मुख्य परीक्षा का प्रवेश पत्र भी अपने साथ लेकर आई थी। मौजूदा समय में बैक पेपर चल रहे हैं। इसके लिए नया प्रवेश पत्र जारी हुआ है। मुख्य परीक्षा का प्रश्नपत्र ए 4 साइज का था। उसी के पिछले हिस्से पर छात्रा प्रश्नपत्र के सभी उत्तर को क्रमवार लिखकर लाई थी।


कहीं पेपर आउट तो नहीं : छात्रा के प्रवेश पत्र पर मिले सभी प्रश्नों के हल से पेपर लीक होने की चर्चा तेजी से उठी है। विभागीय लोग सार्वजनिक तौर पर भले ही कुछ कहने से बच रहे हैं लेकिन छात्रा के पास से मिले सॉल्व पेपर को लेकर वह भी परेशान हैं।

No comments:
Write comments