DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, July 23, 2020

फतेहपुर : स्वयं सहायता समूह की महिलाएं सिलेंगी 56 हजार यूनीफॉर्म, एक लाख या अधिक बजट पर होगा टेंडर

फतेहपुर : स्वयं सहायता समूह की महिलाएं सिलेंगी 56 हजार यूनिफॉर्म, एक लाख या अधिक बजट पर होगा टेंडर।

फतेहपुर ::  बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में निशुल्क यूनीफार्म वितरण की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। इस बार यूनीफार्म की सिलाई की जिम्मेदारी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को भी दिया गया है। जिले के विभिन्न ब्लाकों में समूह की महिलाओं के हाथों से बनी यूनीफार्म बच्चे पहन सकेंगे।





विभाग के अनुसार अब तक 56 हजार यूनीफार्म बनाने की जिम्मेदारी समूह की महिलाओं को दिया गया है। परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को निशुल्क पुस्तकों के बाद अब यूनीफार्म देने के लिए विभागीय कवायद तेज हो गई है। भले ही विद्यालय संक्रमण काल को देखते हुए बंद चल रहे हों लेकिन बच्चों को दी जाने वाली सुविधाएं एमडीएम, पुस्तक एवं यूनीफार्म वितरण का कार्य तेजी पर है। सरकार की ओर से इस बार कोरोना को लेकर परदेश से लौटी प्रवासी महिलाओं एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से यूनीफार्म तैयार करने का आदेश जारी हुआ था। जिसके तहत विभाग ने विभिन्न ब्लाकों में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को करीब 56 हजार यूनीफार्म बनाने का काम सौंपा गया है।


समूह द्वारा सीएलएफ जीएसटी फर्म से कपड़ा खरीदा जाएगा और बच्चों के नाप के मुताबिक ड्रेस तैयार करेंगी। इसके अलावा अन्य यूनीफार्म के लिए खाका तैयार कर दिया गया है। एक लाख से अधिक धनराशि पर पड़ेगा सेंटर-जिले के करीब तीन हजार विद्यालयों में यूनीफार्म वितरण के लिए शासनादेश के तहत बेसिक शिक्षा विभाग ने तय किया है कि जिन विद्यालयों में ड्रेस बनवाने में एक लाख से अधिक की धनराशि होगी, वहां पर टेंडर डाले जाएंगे। ब्लाक स्तर पर पड़ने वाले टेंडर प्रक्रिया के लिए बकायदा अखबारों में विज्ञापन भी प्रकाशि कराया जाएगा। इसके अलावा एक लाख से कम लागत वाले विद्यालयों में कोटेशन के तहत यूनिफॉर्म आपूर्ति कराई जाएगी।


यूनीफार्म वितरण की प्रक्रिया तेजी पर है। सभी बीईओ को निर्देशित किया जा चुका है कि ड्रेस तैयार कराते हुए विद्यालयों में दो से तीन अभिभावकों को एक बार में बुलाकर यूनीफार्म वितरण किया जाए।यूनिफार्म तैयार कराने के लिए स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को भी काम दिया गया है।

शिवेंद्र प्रताप सिंह, बीएसए


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

No comments:
Write comments