DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, May 22, 2021

CBSE and State board Exams 2021 : बोर्ड परीक्षाओं को लेकर केंद्र ने 25 मई तक राज्यों से मांगे लिखित सुझाव, शिक्षा मंत्री निशंक बोले- छात्रों का भविष्य महत्वपूर्ण

सहमति : सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा दो बार होगी, केंद्र सरकार ने बोर्ड और प्रतियोगी परीक्षाओं को लेकर राज्यों के साथ की मंत्रणा, फॉर्मूले पर कई राज्य राजी

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने सीबीएसई की 12वीं की बोर्ड परीक्षा, राज्य बोर्ड परीक्षाओं एवं प्रतियोगी परीक्षाओं को लेकर रविवार को राज्यों के साथ गहन मंत्रणा की रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई IINIST बैठक में केंद्र ने बोर्ड परीक्षाओं को लेकर दो विकल्प राज्यों के समक्ष रखे। सूत्रों का कहना है कि 75 फीसदी राज्य दूसरे विकल्प पर सहमत नजर आए जिसमें बोर्ड परीक्षाएं दो बार करने का जिक्र है। हालांकि कोई अंतिम फैसला नहीं हो पाया, लेकिन केंद्र ने राज्यों से कहा है कि वे 25 मई तक सुझाव भेजें।


शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बैठक में कहा कि 12वीं की परीक्षा एवं प्रतियोगी परीक्षाएं छात्रों के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण होती हैं मंत्रालय ने कहा कि परीक्षाओं के आयोजन को लेकर व्यापक सहमति बनी है लेकिन राज्यों से कहा गया है कि वह और परामर्श करके 25 मई तक अपने सुझाव दें। इसके बाद केंद्र निर्णय करेगा। सूत्रों ने कहा कि 75 फीसदी राज्य दूसरे विकल्प पर सहमत हैं।

- पहला विकल्प

1. परीक्षाएं निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर कराई जाए, जो कि सीमित हैं।

2. सिर्फ 19 प्रमुख विषयों की परीक्षा हो । 

3. कम महत्वपूर्ण विषयों में प्रदर्शन का आकलन प्रमुख विषयों में किए गए प्रदर्शन के आधार पर किया जाए। 

4. परीक्षा पूर्व की गतिविधियों के लिए एक माह और परीक्षा कराने तथा नतीजे घोषित करने के लिए दो माह की जरूरत है। कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए 30 दिन की जरूरत है। 

5. परीक्षाएं कराने का संभावित महीना अगस्त हो सकता है।

बोर्ड परीक्षा का दूसरा विकल्प ।

1. सीबीएसई बोर्ड द्वारा 12वीं कक्षा की परीक्षाएं दो बार कराई जा सकती है। 

2. जहां अनुकूल स्थितियां हों, वहां उपयुक्त तारीख से परीक्षा शुरू की जा सकती हैं। इसके बाद के बचे हुए स्थानों पर परीक्षाएं 15 दिन बाद शुरू होगी। 

3. तय तिथि पर कोरोना संबंधित कारणों से कोई परीक्षा नहीं दे पाए, तो उसे परीक्षा में बैठने का दूसरा मौका दें, प्रश्न पत्र इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भेजे जाएंगे।


CBSE and State board Exams 2021 : बोर्ड परीक्षाओं को लेकर केंद्र ने 25 मई तक राज्यों से मांगे लिखित सुझाव, शिक्षा मंत्री निशंक बोले- छात्रों का भविष्य महत्वपूर्ण

CBSE and State board Exams 2021 : 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं और प्रवेश परीक्षाओं को लेकर आज हुई हाई-लेवल मीटिंग में केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने सभी राज्यों से 25 मई तक लिखित में सुझाव मांगे हैं। 


केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने ट्वीट कर कहा कि सभी राज्यों से लिखित में अपने सुझाव 25 मई तक भेजने का आग्रह किया गया है। उन्होंने कहा कि यह हाई-लेवल मीटिंग बहुत ही उपयोगी रही क्योंकि इसमें मौजूदा परिस्थियों की समीक्षा की गई है।

निशंक ने लिखा, ' मुझे पूरा भरोसा है कि हम सामूहिक निर्णय के माध्यम से जल्द ही कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं के बारे में अपना अंतिम फैसला करेंगे और छात्रों व अभिवावकों के मन में व्याप्त अनिश्चितता को दूर कर पाएंगे।'


शिक्षा मंत्री 'निशंक' ने कहा, 'छात्रों, शिक्षकों की सुरक्षा और भविष्य हमारे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है।'

विश्व के सबसे बड़े एजुकेशन सिस्टम से जुड़े  एजुकेशन सिस्टम जुड़े मुख्यमंत्रियों, शिक्षा मंत्रियों और अधिकारियों को भी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई हाई-लेवल मीटिंग में भाग लेने के लिए केंद्रीय शिक्षा मंत्री धन्यवाद दिया।

आपको बता दें कि सीबीएसएसई और झारखंड सरकार की ओर से 1 जून 2021 को 12वीं परीक्षा की नई तिथियों का ऐलान किया जा सकता है। सीबीएसई ने 1 जून तक के लिए 12वीं परीक्षाओं को स्थगित करने का ऐलान किया था। वहीं झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रविवार को कहा कि छात्रों-अभिभावकों और शिक्षकों से सुझाव लेने के बाद 1 जून को 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं पर फैसला किया जा सकता है।

1.5 करोड़ छात्र देंगे 12वीं की परीक्षा-
आपको बता दें कि देशभर में राज्य बोर्डों, सीबीएसई, सीआईएसई की 12वीं परीक्षा में करीब 1.5 करोड़ छात्र-छात्राएं परीक्षा में भाग लेंगे। इनमें छत्तीसगढ़ राज्य ने 1 जून से 5 जून तक ओपन बुक परीक्षा मोर्ड से 12वीं परीक्षाएं कराने का फैसला किया है। बाकी बोर्ड भी अगले कुछ दिनों में केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार फैसला लेंगे।


Board Exams 2021 : 12वीं बोर्ड परीक्षा सहित अन्य एंट्रेंस एग्जाम पर कल हो सकता है बड़ा फैसला, केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने बुलायी बैठक



Board Exams 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ( Education Minister Ramesh Pokhriyal ‘Nishank)
Board Exams 2021केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Education Minister Ramesh Pokhriyal ‘Nishank) कल यानी कि 22 मई 2021 को कल एक मीटिंग का आयोजन करने जा रहे हैं। इस मीटिंग में 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं और अन्य एंट्रेंस एग्जाम के आयोजन पर चर्चा की जाएगी।


Board Exams 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ( Education Minister Ramesh Pokhriyal ‘Nishank) कल यानी कि 22 मई, 2021 को कल एक मीटिंग का आयोजन करने जा रहे हैं। इस मीटिंग में 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं और अन्य एंट्रेंस एग्जाम के आयोजन पर चर्चा की जाएगी। वहीं इस बैठक में देश भर के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के शिक्षा मंत्रियों, शिक्षा सचिवों और राज्य परीक्षा बोर्डों के अध्यक्षों और स्टॉकहोल्डर शामिल होंगे। यह वर्चुअल मीटिंग कल दोपहर 23 मई को सुबह 11.30 बजे आयोजित की जाएगी। वहीं इस बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह करेंगे।

वहीं इस संबंध में केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने एक ट्वीट भी किया है। इसके अनुसार, राज्य सरकार के सभी शिक्षा मंत्रियों और सचिवों से इस बैठक में शामिल होने और आगामी परीक्षाओं के संबंध में अपने विचार साझा करने का अनुरोध किया गया है। यह वर्चुअल मीटिंग 23 मई, 2021 को सुबह 11.30 बजे होगी।

बता दें कि इससे पहले भी देश के शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल की अध्‍यक्षता में इस विषय पर एक बैठक की जा चुकी है, जिसमें रमेश पोखरियाल ने सभी राज्‍यों से सुझाव मांगे थे। इस दौरान सभी राज्यों के शिक्षा सचिवों से शामिल होने के निर्देश दिए गए थे।

No comments:
Write comments