DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, May 25, 2021

अंक वेबसाइट पर तेजी से हो रहे अपलोड, यूपी बोर्ड कक्षा 9 से 12 तक की परीक्षाओं का संजोएगा रिकार्ड

अंक वेबसाइट पर तेजी से हो रहे अपलोड, यूपी बोर्ड कक्षा 9 से 12 तक की परीक्षाओं का संजोएगा रिकार्ड



प्रयागराज : यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल परीक्षा 2021 के परीक्षार्थियों का लगभग पूरा रिकार्ड मंगा लिया है। सभी कालेजों ने प्रीबोर्ड और छमाही का रिकार्ड भेज दिया है। हालांकि, कुछ छात्र-छात्रओं के अंकों को लेकर गतिरोध बना है। इसका हल भी जल्द ही निकाल लिया जाएगा। अब परीक्षार्थियों के प्रमोट होने के आसार अधिक हैं, वैसे इस पर अंतिम निर्णय जल्द ही मुख्यमंत्री करेंगे।


केंद्रीय शिक्षा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने इस बार हाईस्कूल की परीक्षा निरस्त कर दी है और परीक्षार्थियों को 11वीं में प्रमोट कर रहा है। इसका देश के अधिकांश शिक्षा बोर्ड अनुसरण कर रहे हैं। यूपी बोर्ड ने भी इस दिशा में प्रयास शुरू किए लेकिन, वार्षिक व आंतरिक परीक्षा के परिणाम न होने से समस्या आ रही थी। बोर्ड ने पहले प्रीबोर्ड और छमाही परीक्षा के अंक वेबसाइट पर मांगे और दूसरे दिन नौवीं के विषयवार अंक व पूर्णाक मांगा। 

कालेजों ने पहले कोरोना काल का हवाला देकर अंक देने में आनाकानी की और नौवीं के बारे में कहा गया कि पिछले वर्ष 13 अप्रैल, 2020 को सभी को प्रमोट किया था। बोर्ड ने सख्ती से जिला विद्यालय निरीक्षकों को आदेश दिया, साथ ही इस वर्ष नौवीं व ग्यारहवीं के वार्षिक परीक्षा तक के अंक मांगे। 

वर्ष 2021 के कक्षा-12 के परीक्षार्थियों के प्री बोर्ड परीक्षा एवं उनके कक्षा 11 के छमाही एवं वार्षिक परीक्षा के प्राप्तांक एवं पूर्णांक परिषद की बेबसाइट पर अपलोड कराये जाने के सम्बन्ध में आदेश जारी




बोर्ड सूत्रों के अनुसार कालेजों ने हाईस्कूल प्रीबोर्ड और छमाही के अंक भेज दिए हैं। छमाही की जगह कालेजों ने तीन माह पर होने वाले टेस्ट के अंक दिए गए हैं। नौवीं के भी अंक तमाम कालेजों ने भेज दिया है। बोर्ड ने 24 मई तक अंक मांगे थे और इसकी तारीख नहीं बढ़ाई गई है। कह सकते हैं कि प्रमोट करने की तैयारियां पूरी की जा रही हैं ताकि सीएम की ओर से मुहर लगने पर अंक व प्रमाणपत्र वितरित किए जा सकें।


यूपी बोर्ड कक्षा 9 से 12 तक की परीक्षाओं का संजोएगा रिकार्ड


यूपी बोर्ड अब हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षाओं के साथ ही 9वीं व 11वीं की छमाही व वार्षिक परीक्षाओं के रिकॉर्ड भी संजोएगा। सचिव ने सभी कालेजों से कक्षा 12 की प्रीबोर्ड और 11 के छमाही व वार्षिक परीक्षा के अंक मांगे हैं, जबकि इंटरमीडिएट 2021 की लिखित परीक्षाएं होना तय है। यह कार्य इसीलिए शुरू हुआ है कि ताकि हर वर्ष 9 से 12वीं तक के रिकार्ड को सुरक्षित रखा जा सके और भविष्य में परीक्षा न हो पाने के आसार पर यकायक कालेजों से मांगना न पड़े। ज्ञात हो कि दैनिक जागरण ने नौ मई को ‘कोरोना ने यूपी बोर्ड को दिखाया परीक्षा में सुधार का रास्ता’ शीर्षक से इस संबंध में खबर प्रकाशित की थी।


असल में, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने निर्णय लिया कि इस वर्ष हाईस्कूल की परीक्षा नहीं होगी, परीक्षार्थी अगली कक्षा में प्रमोट होंगे। इंटर के संबंध में फैसला होना है। सीबीएसई व यूपी बोर्ड का पाठ्यक्रम लगभग समान है लेकिन, दोनों की परीक्षाओं की सूचना देने में अंतर है। सीबीएसई में मासिक टेस्ट के अलावा छमाही व वार्षिक परीक्षा का पूरा रिकार्ड ऑनलाइन है। केंद्रीय बोर्ड छात्र-छात्रओं के प्रदर्शन के आधार पर हाईस्कूल में आसानी से प्रमोट कर सकता है। वहीं, यूपी बोर्ड में कक्षा 9 की अर्धवार्षिक व वार्षिक परीक्षा का रिकार्ड बोर्ड मुख्यालय नहीं भेजा जाता था। इस बार प्री बोर्ड यानी हाईस्कूल व इंटर परीक्षा से पहले स्कूल स्तर की परीक्षा फरवरी में कराई गई। लेकिन, उसका रिकार्ड बोर्ड के पास नहीं था।


वजह, यूपी बोर्ड में अधिकांश कालेज वित्तविहीन हैं, जबकि राजकीय व अशासकीय कालेज एक तिहाई ही हैं। ऐसे में पहले जिलों से नवीं और हाईस्कूल में प्री बोर्ड व छमाही का रिकार्ड मांगा गया। अब बोर्ड सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने कक्षा 12 की फरवरी में हुई प्रीबोर्ड परीक्षा का रिकॉर्ड मांगा है। इंटर के सभी संस्थागत व व्यक्तिगत परीक्षार्थियों की कक्षा 11 की छमाही व वार्षिक परीक्षा का पूर्णाक व प्राप्तांक मांगा गया है। इसी तरह से कृषि भाग एक के परीक्षार्थियों का कक्षा 11 की छमाही के अंक मांगे गए हैं। बोर्ड सचिव ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों से 28 मई की शाम तक वेबसाइट पर अंक अपलोड करने का निर्देश दिया है।

No comments:
Write comments