DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, June 14, 2021

CBSE Class 12 Board Exam Result 2021: स्टूडेंट्स को मार्क्स के बजाए ग्रेड देने पर विचार कर रहा बोर्ड

CBSE Class 12 Board Exam Result 2021: स्टूडेंट्स को मार्क्स के बजाए ग्रेड देने पर विचार कर रहा बोर्ड

CBSE Class 12 Board Exam Result 2021:  केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से अभी कक्षा 12 के छात्रों के लिए मार्किंग पॉलिसी तय करना बाकी है, लेकिन इसी बोर्ड के अधिकारियों ने मीडिया को बताया है कि सीबीएसई बोर्ड 12वीं के छात्रों को मार्क्स के बजाए ग्रेड देने के सुझाव पर विचार किया जा रहा है।


बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि सीबीएसई को कक्षा 12 के वैकल्पिक असेसमेंट के लिए स्कूल प्रिंसिपलों की ओर से भिन्न-भिन्न सुझाव मिले हैं। प्रिंसिपलों की एक बड़ी संख्या ने सुझाव दिया है कि 12वीं के स्टूडेंट्स को मार्क्स की बजाए पिछली परीक्षाओं के ग्रेड दिए जाएं।

इससे पहले सीबीएसई ने 'सतत और व्यापक मूल्यांकन' (continuous and comprehensive evaluation) नीति के जरिए A1, A, B1, B, C1, C, D और E देता रहा है। सीबीएसई की यह नीति कक्षा 10 के छात्रों के लिए है। इसके बाद ग्रेडिंग सिस्टम बंद कर दिया गया। सीबीएसई के अनुसार, चूंकि इस साल परीक्षाएं रद्द हो चुकी हैं और छात्रों के रिजल्ट पूर्व के प्रदर्शन के आधार पर घोषित किए जाने हैं ऐसे में अब छात्रों को मार्क्स देना अच्छा नहीं रहेगा।

कब तक जारी होगा सीबीएसई का मूल्यांकन फॉर्मूला ?
इंडिया डॉट कॉम के अनुसार एक न्यूज पोर्टल से बात करते हुए बोर्ड सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा मूल्यांकन फॉर्मूला दो हफ्तों में तय कर लिया जाएगा।


उल्लेखनीय है कि 4 जून को सीबीएसई ने 13 सदस्यीय एक समिति का गठन किया था जो असेसमेंट पॉलिसी तय करेगी। बोर्ड ने समिति से कहा था कि वह 10 दिन में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुल करे।

दो विकल्पों पर तैयार हो सकता है 12वीं का रिजल्ट -

1- छात्रों का असेसमेंट 10वीं,  11वीं फाइनल के मार्क्स और 12वीं कक्षा के इंटरनल मार्क्स के आधार पर तैयार किया जा सकता है।

2- बोर्ड 10वीं के फाइनल मार्क्स और 12वीं के आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर भी रिजल्ट तैयार कर सकता है।


जो अभ्यर्थी अपने रिजल्ट से खुश नहीं होंगे उन्हें हालात सामान्य होने पर अंक सुधार का मौका दिया जाएगा।

15 जुलाई के बाद जारी हो सकता है रिजल्ट :
सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट 15 जुलाई के बाद जारी किया जा सकता है। क्योंकि सीबीएसई ने स्कूलों को इंटरनल असेसमेंट मार्क्स अपलोड करने के लिए लास्ट डेट 28 जून तक के लिए बढ़ा दी है। ऐसे में रिजल्ट तैयार करने में बोर्ड को कम-से-कम 15 दिन का समय लगेगा। इस हिसाब से 15 जुलाई के बाद इंटर का रिजल्ट घोषित हो पाएगा।

No comments:
Write comments