DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, June 26, 2020

फतेहपुर : विभाग की गलती से शिक्षकों की प्रविष्टियां गलत, सुधार के लिए विभाग के चक्कर लगा रहे शिक्षक

फतेहपुर : विभाग की गलती से शिक्षकों की प्रविष्टियां गलत, सुधार के लिए विभाग के चक्कर लगा रहे शिक्षक।


फतेहपुर। शिक्षकों के ब्यौरे की ऑनलाइन फीडिंग में बेसिक शिक्षा विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। ब्लाक स्तर पर की गई फीडिंग में तमाम गड़बड़ी मिल रही हैं। शिक्षकों की ओर से विभाग को शैक्षिक अभिलेखों की सीडी और हार्ड कॉपी कई बार दी जा चुकी है। पोर्टल पर कंप्यूटर ऑपरेटर की वजह से शिक्षकों से संबंधित जानकारियां त्रुटिपूर्ण और अधूरी हैं। शिक्षक नेताओं का कहना है कि जिले की सभी शिक्षकों का ब्योरा कुछ न कुछ गलत है। हर ब्लाक में मानव संपदा पोर्टल पर फीडिंग के लिए शिक्षक शैक्षणिक व विभागीय आदेशों की सीडी व हार्ड कॉपी ब्लाक संसाधन केंद्रों में जमा कर चुके हैं। शिक्षकों की नियुक्ति तिथि, विद्यालय में ज्वाइनिंग की तिथि में बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां सामने आई हैं। शिक्षकों की सेवानिवृत्त आयु 62 वर्ष है, जबकि पोर्टल पर 60 वर्ष फीड कर दी गई है। कई शिक्षकों की उनके कोड से मानव संपदा साइट नहीं खुल रही है।





इसलिए हो रही फीडिंग : बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत सभी शिक्षकों का डाटा ऑनलाइन होने से विभाग के किसी भी कर्मचारी के बारे में एक क्लिक पर सारी जानकारी मिल सकेगी। सभी शिक्षक को इंप्लाई कोड मिला है। इससे लॉगिन करने पर शिक्षक की सारी जानकारी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी। पोर्टल पर शिक्षक की सर्विस बुक, नाम, पता मोबाइल नंबर और अन्य जरूरी जानकारियां दर्ज हैं।

सभी शिक्षकों का ऑनलाइन ब्योरा ठीक किया जा रहा है। लॉकडाउन के समय सभी कंप्यूटर आपरेटरों को बैठाकर डाटा ठीक कराया गया है। जल्द सभी का डाटा पूरी तरह सही होगा। - शिवेंद्र प्रताप सिंह, बीएसए।

शिक्षक नेता बोले-----


त्रुटियां ठीक करने के नाम पर शिक्षा विभाग के अधिकारी सर्वर की समस्या बता रहे हैं। ऐसा है नहीं। शिक्षकों को परेशान किया जा रहा है। मानव संपदा पोर्टल पर डाटा गलत होने से शिक्षक परेशान हैं। इन गलतियों के लिए विभाग जिम्मेदार है। - शैलेंद्र भदौरिया, ब्लॉक अध्यक्ष हसवा

अधिकारियों का कहना है कि अगर 30 जून तक शिक्षकों की फीडिंग ठीक नहीं होगी तो वेतन रोक दिया जाएगा। अधिकारियों को पता होना चाहिए कि इसमें कौन दोषी है, और किसका वेतन रोकना है। यह आदेश पूरी तरह संगीत व भेदभाव पूर्ण है। - दिग्विजय सिंह, ब्लॉक अध्यक्ष भिटौरा।


शिक्षकों ने मानव संपदा संशोधन प्रार्थना

पत्र की हार्ड कॉपी बीआरसी पहुंचा दी थी। अगर विभाग से शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है तो संगठन साथ है। फीडिंग का काम संबंधित बाबू और अधिकारी का है,आप का नहीं। - बलराम सिंह, ब्लॉक अध्यक्ष खजुहा

शिक्षकों का डाटा ठीक कराया जा रहा है। ब्लाक संसाधन केंद्रों पर सभी कागजों को पूरा कराया जा रहा है। अन्य विभागों की तरह शिक्षकों का डाटा ऑनलाइन होने से बहुत सुविधाएं रहेंगी। सर्विस बुक में घर बैठे ऑपरेशन देख सकते हैं। - जितेंद्र सिंह, ब्लॉक अध्यक्ष देवमई।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

No comments:
Write comments