DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, July 6, 2020

शिक्षामित्रों व अनुदेशकों पर नजर, मांगा जा रहा रिकार्ड, मानव संपदा पोर्टल से खंगाली जा रही डिटेल


शिक्षामित्रों व अनुदेशकों पर नजर, मांगा जा रहा रिकार्ड, मानव संपदा पोर्टल से खंगाली जा रही डिटेल



चंदौली : अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद शासन अलर्ट है। शिक्षकों के बाद अब शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का सत्यापन कराने का निर्देश दिया गया है। इसके बाबत बीएसए को पत्र प्राप्त हो चुका है। शिक्षामित्रों व अनुदेशकों के सत्यापन की प्रक्रिया इसी सप्ताह से शुरू कर दी जाएगी। उनके शैक्षिक अभिलेखों व नियुक्ति संबंधी दस्तावेजों की पड़ताल होगी। अनियमितता मिलने पर संबंधित के खिलाफ गाज गिरनी तय मानी जा रही है।


कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में शिक्षिका के पद पर अनामिका शुक्ला की नियुक्ति में धांधली का मामला सामने आने के बाद बेसिक शिक्षा विभाग सचेत हो गया है। कस्तूरबा विद्यालयों में नियुक्त वार्डेन, शिक्षिकाओं, परिचारक, रसोइया का सत्यापन कराया गया। यहां तक स्कूलों में नियुक्त महिला सुरक्षाकर्मियों के भी रिकार्ड खंगाले गए। हालांकि जिले में कर्मियों की नियुक्ति में कोई धांधली सामने नहीं आई। शासन ने अब प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में नियुक्त शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का भी सत्यापन कराने का निर्देश दिया है। इसके बाबत बीएसए को पत्र भेजकर निर्देशित किया गया है। 


जिले में करीब 2200 शिक्षामित्र और 700 से अधिक अनुदेशक हैं। विभाग की ओर से शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का रिकार्ड खंगाला जाएगा। उनके शैक्षिक अभिलेखों की जांच के साथ ही बैंक डिटेल व नियुक्ति के अभिलेखों की भी पड़ताल कराई जाएगी। इसके लिए बीएसए की ओर से जल्द ही बीईओ के नेतृत्व में टीमें गठित की जाएगी। सत्यापन के दौरान यदि किसी तरह की अनियमितता मिली तो संबंधित के खिलाफ शासन को रिपोर्ट भेजने के साथ ही विभागीय कार्रवाई की जाएगी। विभाग मुकदमा भी दर्ज कराएगा।


मानव संपदा पोर्टल से खंगाली जा रही डिटेल

बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों के लिए मानव संपदा पोर्टल पर डिटेल अपलोड करना अनिवार्य कर दिया है। शिक्षकों को अपना, नाम, पता, बैंक, आधार व सेवा काल से संबंधित समस्त सूचनाएं आनलाइन अपलोड करनी पड़ रही हैं। पोर्टल पर हर माह रिपोर्ट अपलोड होने के बाद ही शिक्षकों को वेतन का भुगतान किया जा रहा है। शासन मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड होने वाली डिटेल पर नजर बनाए हुए हैं। इसके जरिए बैंकिग दस्तावेजों में फेरबदल करने वाले व समान नाम, जन्मतिथि वाले शिक्षकों का डाटा बीएसए को भेजकर जांच कराई जा रही है। जिले में नियुक्ति के बाद पैन कार्ड बदलने वाले आठ शिक्षकों का डाटा बीएसए को भेजकर सत्यापन कराने का निर्देश दिया गया है।

-

'शासन ने शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का सत्यापन कराने का निर्देश दिया है। इसके लिए जल्द टीम गठित की जाएगी। शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का रिकार्ड खंगाले जाएंगे। इसके बाद रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। - भोलेंद्र प्रताप सिंह, बीएसए

No comments:
Write comments