DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, May 11, 2021

ललितपुर : शिक्षकों को नहीं मिल रहा समय पर वेतन, राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने मुख्यमन्त्री को ज्ञापन भेज कर समस्या से कराया अवगत

  

ललितपुर ब्यूरो : राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने मुख्यमन्त्री को एक ज्ञापन भेजा, जिसमें शिक्षकों को समय पर वेतन नहीं मिलने की समस्या से अवगत कराया। ज्ञापन में कहा गया कि कोरोना काल में शिक्षकों ने पूर्ण निष्ठा के साथ कार्य किया और कई शिक्षक-शिक्षणेत्तर कर्मचारी के मौत के आगोश में समा गये। शिक्षकों को शासनादेश के तहत माह के एक तारीख को वेतन दिया जाना चाहिये लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है। अफसरों की लापरवाही का खामियाजा शिक्षकों को भुगतना पड़ रहा है। ज्ञापन में शिक्षकों को हर माह की एक तारीख को वेतन दिलाये जाने की माँग की है। 

ज्ञापन में कहा गया कि विभिन्न शासनादेशों व विभागीय निर्देशों के क्रम में शिक्षकों का वेतन प्रत्येक माह की 1 तारीख तक किये जाने के निर्देश हैं। वर्तमान में ई-पेमेंट व्यवस्था लागू होने अर्थात मानव सम्पदा पोर्टल पर पैरोल माड्यूल के माध्यम से ऑनलाईन भुगतान हर स्थिति में प्रतिमाह की एक तक किये जाने के निर्देश किये गये हैं, किन्तु शासनादेशों व वर्तमान में ऑनलाईन पैरोल माड्यूल व्यवस्था लागू होने के बाद भी अधिकारियो की लचर कार्यप्रणाली के चलते प्रत्येक माह की एक तारीख को वेतन भुगतान नहीं कर हमेशा 15 या 20 तारीख के पूर्व वेतन भुगतान नहीं किया जाता है जो निन्दनीय है। इस सम्बन्ध में संगठन द्वारा कई बार प्रशासनिक व विभागीय अधिकारियो को ज्ञापन दिये गये हैं। ज्ञापन में कहा गया कि वर्तमान में अति विषम कठिन परिस्थिति के दौर में जब कोरोना महामारी विकराल रूप धारण कर चुकी है व दर्जनों शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मचारी मौत के आगोश में समा चुके है तथा घर घर में लोग बीमार है और उन्हें पैसों की नितांत आवश्यकता है। ऐसी स्थिति में भी अधिकारियो की मनमानी के चलते शासनादेशों को ताक पर शिक्षको को वेतन माह की एक तारीख को उपलब्ध नही कराई जा रही है। शासनादेशों व विभागीय निर्देशों की खुलेआम धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं। ज्ञापन में शिक्षकों का माह अप्रैल के वेतन का अविलम्ब भुगतान कराकर शासनादेशों के तहत प्रतिमाह की 1 तारीख तक वेतन का भुगतान कराने व देरी से वेतन भुगतान के जिम्मेदार दोषी अधिकारियो के विरूद्ध अविलम्ब ठोस दंडात्मक अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की माँग की गई। साथ ही चेतावनी दी कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो आन्दोलन किया जायेगा ।

 ज्ञापन पर मण्डल अध्यक्ष अरविंद तिवारी, जिलाध्यक्ष रविकान्त ताम्रकार, जिला महामंत्री हरभजन सिंह, जिला मंत्री अनिल शर्मा, जिला संगठन मंत्री तृप्ति सिंह, जिला कोषाध्यक्ष कैलाशचन्द्र राणा ने हस्ताक्षर किये।


No comments:
Write comments