DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, May 3, 2020

NCERT ने जारी किया 9वीं से 12वीं का वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर, जानें शेड्यूल

NCERT ने जारी किया 9वीं से 12वीं का वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर, जानें शेड्यूल

एनसीईआरटी ने ऑनलाइन कक्षाओं के मुताबिक बनाया कक्षा 9 से 12 तक का एकेडमिक कैलेंडर 


एनसीईआरटी ने ऑनलाइन कक्षाओं के मुताबिक बनाया कक्षा 9 से 12 तक का एकेडमिक कैलेंडर मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा, इसकी मदद से छात्र लॉकडाउन में भी घर बैठे कर सकेंगे पढ़ाई

कैलेंडर की खास बातें साप्ताहिक आधार पर किया जाएगा जारी सिलेबस के अनुसार विषयों को बनाया गया है रुचिकर

नई दिल्ली। एनसीईआरटी की तरफ से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के लिए तैयार किया गया एकेडमिक कैलेंडर शनिवार को जारी कर किया गया। लॉकडाउन में ऑनलाइन कक्षाओं में पढ़ने के तरीके, तकनीक आदि को शामिल करते हुए तैयार कैलेंडर को मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने जारी किया। विशेषज्ञों ने यह कैलेंडर छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से लिए गए सुझावों के आधार पर तैयार किया है। इससे पहले एनसीईआरटी कक्षा-1 से 5वीं कक्षा तक और छठी से आठवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए भी वैकल्पिक एकेडमिक कैलेंडर बनाया था इन कैलेंडरों को दूरदर्शन, मंत्रालय के स्वयंप्रभा चैनल से लेकर सभी

अनुभव आधारित शिक्षा में कला और शारीरिक शिक्षा के साथ साथ योग भी शामिल

* तनाव और चिंता को दूर करने के तरीके लेटर में कैलेंडर चार भाषाओं संस्कृत, उर्दू, हिंदी और अंग्रेजी में किया गया है जारी विशेष छात्रों के लिए भी ऑडियो बक्स, रेडियो कार्यक्रमों आदि से होगी पढ़ाई। टीवी चैनलों पर प्रसारित कराया जाएगा इस कैलेंडर के आधार पर ही एससीईआरटी , राज्य

स्कूल शिक्षा विभाग, स्कूल शिक्षा बोर्ड, केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति आदि संस्थान अपनी गतिविधियां संचालित करते हैं। कैलेंडर जारी करते समय निशंक ने कहा, इसकी मदद से जहां अध्यापक विभिन्न तकनीकों और सोशल मीडिया प्लेटफार्म के जरिये घर से ही बच्चों को अभिभावकों की देखरेख में पढ़ा सकते हैं। इसके तहत शिक्षक, अभिभावक और बच्चे व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, टेलीग्राम, गूगल मेल और गूगल हैंगऑउट जैसी एप्लिकेशनों के जरिये एक-दूसरे से जुड़कर घर बैठकर ही क्लासरूम की तर्ज पर पढ़ाई कर सकते है। वहीं कुछ लोगों के पास मोबाइल, इंटरनेट की सुविधा नहीं होने को ध्यान में रखकर इसे टीवी से भी जोड़ा जा रहा है।

In this period of Covid-19, which is declared as a global pandemic, our teachers, parents, and students have to remain at homes to prevent its spread in the community. In this situation, it is our responsibility to provide them with multiple alternative ways of learning at home through interesting activities. It is necessary because in the present environment of stress we have to not only keep our children busy but also to maintain continuity of their learning in their new classes. In this context, NCERT has developed an Alternative Academic Calendar for all the stages of school education.

AlternativeAcademicCalendar



 
 

No comments:
Write comments