DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Wednesday, July 21, 2021

शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों का आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा, सीएम आवास चौराहा और BJP कार्यालय पर प्रदर्शन

शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों का आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा,  सीएम आवास चौराहा और BJP कार्यालय पर प्रदर्शन

नौकरी दिलाने के नाम पर युवाओं से वसूला चंदा : बेसिक शिक्षा मंत्री


बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल युवाओं को बहका कर उनके भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। गैरकानूनी रूप से नौकरी दिलाने का ठेका लिया गया है। इसी नाम पर युवाओं से चंदा इकट्ठा किया गया और सरकार को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। यह साजिश सफल नहीं होने दी जाएगी।

उन्होंने अभ्यर्थियों से अपील की कि वह घर जाएं और पढ़ाई करें। विभाग में जैसे ही अगला विज्ञापन नौकरी के लिए आता है, आवेदन करें मेरिट के आधार पर निष्पक्ष तरीके से नौकरी दी जाएगी।

                                                                              
शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों का आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा। मंगलवार को 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण नियमों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने पांच कालीदास मार्ग स्थित चौराहा से लेकर भाजपा प्रदेश कार्यालय तक जोरदार प्रदर्शन किया। आरक्षण बचाने को लेकर आवाज बुलंद की। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को बलपूर्वक जबरदस्ती घसीट -घसीट कर हटाया। बसों में भर कर ईको गार्डेन छोड़ा। इस दौरान कई अभ्यर्थी चोटिल हुए, कुछ बेहोश हो गए। दो को अस्पताल तक ले जाना पड़ा।  


लम्बे समय से कर रहे आंदोलन
शिक्षक भर्ती में आरक्षण में घोटाला होने को लेकर अभ्यर्थी लम्बे समय से आंदोलन कर रहे हैं। बेसिक शिक्षा निदेशालय, बेसिक शिक्षा मंत्री  और उपमुख्यमंत्री आवास का घेराव कर लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे थे। सोमवार को निशातगंज स्थित बेसिक शिक्षा निदेशालय से पुलिस ने इन अभ्यर्थियों को जबरन हटाया था। 


पुलिस ने घसीट -घसीट कर गाड़ियों में भरा 
मंगलवार को अभ्यर्थियों ने सुबह पहले मुख्यमंत्री आवास के बाहर जमा हुए। अभ्यर्थी मुख्यमंत्री जनता दर्शन में अपनी बात रखने चाहते थे। पुलिस तुरंत हरकत में आई और अभ्यर्थियों को हटाने लगी। इस पर चौराहे पर ही नारेबाजी शुरू हो गई। पुलिस ने बलपूर्वक घसीट -घसीट कर हटाना शुरू कर दिया। खूब धक्का मुक्का हुई। इस जबरदस्ती से कई महिला अभ्यर्थी फूट फूट कर रोईं। लेकिन जबरन बसों में भर कर ईको गार्डेन भेज दिया गया। तुरंत बाद अभ्यर्थियों की दूसरी टोली ने भाजपा प्रदेश कार्यालय के गेट नंबर दो पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। यहां भी पुलिस द्वारा हटाए जाने के दौरान कई अभ्यर्थियों को चोटे आईं। अभ्यर्थियों ने बताया कि मुक्ता कुशवाहा व सरिता पटेल को गंभीर चोट लगी है। अस्पताल भेजा गया। दोनों ही जगह प्रदर्शन के दौरान कई अभ्यर्थी बेहोश हुए। 


आरक्षण बंटवारे की गलती सुधारे सरकार 
अभ्यर्थियों ने सरकार से 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण बंटवारे में हुई गलती को सुधारने और ओबीसी व एससी के योग्य अभ्यर्थियों को तय आरक्षण कोटे के हिसाब से नियुक्ति दिए जाने की मांग की। अभ्यर्थी विजय प्रताप व राज कुमार यादव ने बताया कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने अपनी रिपोर्ट में सरकार से कहा है कि शिक्षक भर्ती में ओबीसी को 27 प्रतिशत की जगह 3.86 फीसदी आरक्षण दिया गया है। वहीं एससी वर्ग को भी 21 के स्थान पर 16.6 प्रतिशत ही आरक्षण का लाभ मिला है।

No comments:
Write comments