DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, July 29, 2022

बाबुओं के तबादलों में गड़बड़ी पर कर्मचारी नेताओं से बात करेगा शिक्षा विभाग

बाबुओं के तबादलों में गड़बड़ी पर कर्मचारी नेताओं से बात करेगा शिक्षा विभाग


लखनऊ। तबादलों में गड़बड़ी को लेकर चल रहे विरोध के बीच बेसिक शिक्षा विभाग ने कर्मचारी नेताओं को वार्ता के लिए बुलाया है। प्रयागराज स्थित अपर शिक्षा निदेशक (बेसिक) कार्यालय में दो अगस्त को दोनों पक्षों में वार्ता होगी।


इस संबंध में यूपी एजुकेशनल मिनिस्टीरियल ऑफीसर्स एसोसिएशन को पत्र जारी किया गया है। इसमें संगठन की ओर से बेसिक शिक्षा निदेशालय में दिए गए धरने के दौरान तबादलों में हुई गड़बड़ियों समेत उठाए गए अन्य मुद्दों पर चर्चा की बात कही गई है। एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष विवेक यादव व महामंत्री राजेश चंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि दो अगस्त को वार्ता के लिए बुलाया गया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि वार्ता में ठोस परिणाम निकलेगा


शिक्षा विभाग में ट्रान्सफर किए गए 1045 में से 700 लिपिकों ने अब तक कार्यभार संभाला


लखनऊ। शिक्षा विभाग में लिपिकों के तबादले का विवाद जल्द ही सुलझाया जाएगा।

महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने बताया कि लगभग 700 लिपिकों ने ज्वाइन कर लिया है। तबादलों को लेकर दिए गए प्रत्यावेदनों की जांच की जा रही है। विभाग ने 1045 लिपिकों के तबादले किए थे। उन्होंने कहा कि जो भी विसंगतियां हैं उन्हें दूर किया जा रहा है।


शिक्षा विभाग के बाबुओं की तबादला जांच कमेटी सवालों में घिरी,  गड़बड़ी के आरोपियों को ही मिला जांच का जिम्मा


लखनऊ। बेसिक व माध्यमिक शिक्षा के बाबुओं के तबादलों में हुई गड़बड़ी की जांच के लिए बनी कमेटी खुद सवालों के घेरे में है। कारण, तीन सदस्यीय इस कमेटी में ऐसे लोग हैं जो खुद पहले तबादला सूची तैयार कराने में शामिल थे। सवाल उठ रहा है कि जिस टीम ने तबादलों में गड़बड़ी की, उसी के सदस्य को कमेटी में क्यों शामिल किया गया?


जांच कमेटी का गठन अपर शिक्षा निदेशक (बेसिक) प्रयागराज ने किया है। यहीं से प्रदेश भर के बेसिक व माध्यमिक के करीब एक हजार बाबुओं का संयुक्त तबादला किया गया था। अब गड़बड़ियां सुधारने के लिए जो कमेटी बनी है, उसमें राजेंद्र प्रताप, उप शिक्षा निदेशक (अर्थ), दिनेश सिंह, उप शिक्षा निदेशक (विज्ञान) और नंदलाल सिंह, सहायक शिक्षा निदेशक (सेवा-2) शामिल हैं। 


यूपी एजूकेशनल मिनिस्ट्रीयल ऑफिसर्स एसोसिएशन का आरोप है कि राजेंद्र प्रताप व नंदलाल गड़बड़ निकली तबादला सूची तैयार कराने में शामिल थे। ऐसे में उनसे सुधार की उम्मीद कैसे की जा सकती है? एसोसिएशन के महामंत्री राजेश श्रीवास्तव का आरोप है कि इसी के चलते जांच धीमी चल रही है। उन्होंने दोनों को तत्काल कमेटी से हटाने की मांग की है।


जो अधिकारी हैं वही तो जांच करेंगे

अपर शिक्षा निदेशक (बेसिक) प्रयागराज अनिल भूषण चतुर्वेदी ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया। कहा कि जब हमारे यहां तीन ही अधिकारी हैं तो वही तो हर काम देखेंगे। इनमें भी एक नए हैं। कहा कि उन्होंने तबादले होने के बाद कार्यभार संभाला है और खुद निगरानी कर रहे हैं। ऐसे में गड़बड़ी का प्रश्न ही नहीं उठता। अंतिम परीक्षण वह खुद करेंगे त्रुटियां बहुत ज्यादा नहीं, उन्हें दो तीन दिन में दुरुस्त कर लिया जाएगा। यही नहीं उनका आरोप है कि गड़बड़ियों को लेकर जो हल्ला मचा है, उनके बारे में उन्होंने पहले सूचनाएं मांगी थीं। उस समय मंडल व जिलों से बाबुओं ने ही सही सूचनाएं नहीं दी। शासन की नीति के अनुसार प्रत्येक मामले की जांच हो रही है।


गड़बड़ियों के विरोध में प्रदर्शन 

समूह ग के कर्मचारियों के तबादलों में हुई गड़बड़ियों के विरोध में कर्मचारियों ने बृहस्पतिवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। यूपी एजुकेशनल मिनिस्टीरियल ऑफिसर्स एसोसिएशन के बैनर तले राजधानी में करीब चार घंटे तक चले प्रदर्शन के बाद महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने मौके पर पहुंचकर मांगों का तीन दिन में निस्तारण कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद एसोसिएशन ने एक सप्ताह के लिए आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की।

No comments:
Write comments