DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, July 25, 2022

पॉलीटेक्निक में दाखिले के लिए काउंसिलिंग की तैयारी शुरू

पॉलीटेक्निक में दाखिले के लिए काउंसिलिंग की तैयारी शुरू

संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद को है सीट इंडेक्स मिलने का इंतजार


लखनऊ। यूपी बोर्ड और सीबीएसई की परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद प्रदेश के पॉलीटेक्निक संस्थानों में दाखिले के लिए काउंसिलिंग प्रक्रिया शुरू करने तैयारी की जा रही है। काउंसिलिंग कराने वाले संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद को सीट इंडेक्स का इंतजार है। सीट इंडेक्स प्राविधिक शिक्षा परिषद को मुहैया कराना है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद ने काउंसलिंग का प्रस्ताव तैयार कर रखा है।


संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के कार्यकारी सचिव राम रतन ने बताया कि एआईसीटीई ने 31 जुलाई तक का समय दिया है। इसके बाद काउंसिलिंग शुरू कर सकते हैं। पर प्राविधिक शिक्षा परिषद की तरफ से सीट इंडेक्स 31 जुलाई के बाद ही मिलेगा। ऐसे में 15 अगस्त के बाद काउंसिलिंग प्रारंभ करने का प्रस्ताव तैयार किया है। 


उन्होंने बताया कि जैसे ही सीट इंडेक्स मिलेगी, उसके कुछ दिन बाद काउंसिलिंग शुरू कर दी जाएगी। आमतौर पर हर पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा का परिणाम जारी होने के दूसरे दिन से ही काउंसिलिंग के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू होती थी लेकिन बोर्ड परीक्षा परिणाम आने में देरी की वजह से काउंसिलिंग की प्रक्रिया को बढ़ा दिया गया है। गत 18 जुलाई को प्रवेश परीक्षा का परिणाम जारी किया गया था।


इंजीनियरिंग और फार्मेसी में भी सीट से कम अभ्यर्थी

पॉलीटेक्निक के इंजीनियरिंग व फार्मेसी डिप्लोमा में दाखिले के लिए सबसे ज्यादा अभ्यर्थी आवेदन करते हैं। इंजीनियरिंग के लिए हाईस्कूल उत्तीर्ण तो फार्मेसी के इंटर उत्तीर्ण होना चाहिए। इन दोनों प्रमुख पाठ्यक्रमों में भी सीट के सापेक्ष कम अभ्यर्थी अहं हुए हैं। सत्र 2022-23 के लिए सीट इंडेक्स नहीं आई है लेकिन गत वर्ष के सीटों की तुलना में इस बार अभ्यर्थी काफी कम हैं। जबकि अभी सीटों में और इजाफा भी होना है। इंजीनियरिंग डिप्लोमा में 1,40,563 सीटें हैं, वहीं अर्ह अभ्यर्थियों की संख्या 1,14,056 है। इसी तरह फार्मेसी में 56,878 सीटें हैं और अर्ह अभ्यर्थियों की संख्या 37,741 है।

No comments:
Write comments